KHATU SHYAM JI MELA

हर साल खाटू श्याम जी में फाल्गुन मेला बड़ी धूम धाम से भरता है | यह श्याम बाबा का सबसे बड़ा मेला है जिसमे लाखो भक्त बाबा के दरबार में शीश झुकाने दूर दूर से अपने परिवार और मित्रो के साथ आते है |

फाल्गुन मेला अष्टमी से बारस तक ५ दिन के लिए भरता है जो होली के पांच दिन पहले आता है | पुलिस प्रशासन और खाटू श्याम जी मंदिर कमिटी इस पुरे मेले का ध्यान रखती है |

मुख्य मेला ५ दिन का होता है पर भक्तो की भीड़ देखते हुए अब इसे कुछ सालो में १० दिनों का कर दिया गया है | रिंग्स से खाटू तक श्यामभक्त पद यात्रा करते है और निशान हाथो में लेकर बाबा के जयकारो के साथ १९ किमी की यात्रा करते है |

फाल्गुन मेले का सबसे मुख्य दिन कौनसा है ?

फाल्गुन महीने का सबसे मुख्य दिन फाल्गुन शुक्ला एकादशी का होता है जब श्याम कुंड से बाबा का शीश निकला था | श्याम बाबा का सबसे बड़ा मुख्य दिन भी ग्यारस को ही बताया गया है |

श्याम भक्त निशान क्यों चढाते है ?

बाबा श्याम ने अपना शीश धर्म के लिए भगवान कृष्ण को दान दिया दिया था | यह इतिहास में एक महान बलिदान था | तब कृष्ण ने उन्हें कलियुग में पूजे जाने का वरदान दिया था | आज जो भी निशान श्याम बाबा को चढाते है वो उसकी बलिदान के लिए है |

निशान श्याम बाबा की जीत का है की उन्होंने बलदान दे कर भी सबका दिल जीत लिया | यदि वे बलदान नही करते तो वे कौरवो का साथ देते तब जीत कौरवों की ही होती |

खाटूश्यामजी मेला में आने से पहले जान लें इन नई व्यवस्थाओं के बारे में,वरना नहीं हो पाएंगे दर्शन

खाटूश्यामजी मेला 2021 की खास बातें

-खाटू मेला 2021 में हर साल के मुकाबले 80 फीसदी कम श्रद्धालु ही बाबा श्याम के दर्शन कर पाएंगे।

-मेले में रोजाना करीब 50 हजार श्रद्धालुओं को ही ऑनलाइन पंजीयन से श्याम दर्शन करवाने का फैसला लिया गया है।

-ऑनलाइन पंजीयन के बाद भी सिर्फ वो ही श्याम भक्त दर्शन कर पाएंगे, जो 72 घंटे के भीतर की कोविड जांच की निगेटिव रिपोर्ट साथ लाएंगे।

-फर्जी कोविड जांच रिपोर्ट लाने वालों के खिलाफ भी कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

-मेले में भंडारों व निशान पर भी पूरी तरह पाबंदी रहेगी। मेले में सेवा देने वाले सभी विभागों के कर्मचारियों को वैक्सीन लगवाने के आदेश दिए गए हैं।

-खाटू मेला 2021 में भीड़ का दबाव बढने पर पंजीयन की संख्या भी बढ़ाने, धुलंडी पर मंदिर बंद रखने, डीजे, झूले, बाहर से आने वाली झांकियों, पालिका द्वारा लगने वाली अस्थाई दुकानों, धर्मशालाओं में होने वाले भजन-कीर्तन पर भी पूरी तरह पाबंदी रहेगी। -धर्मशाला, होटल व गेस्ट हाउस में 3 दिन तक ही श्रद्धालुओं को ठहरा सकेंगे। एडीएम ने कहा कि मेले में सेवा देने वाले स्काउट गाइड, एनसीसी व स्वयंसेवकों की उम्र 18 साल से उपर हो।

-श्रद्धालुओं को अपने मोबाइल में आरोग्य सेतु ऐप इंस्टॉल करना होगा।

-सोशल डिस्टेंसिंग व मास्क पहनने की भी अनिवार्यता रहेगी।

Khatu Shyam Ji Falgun Mela 2021 Dates :

  • 19 मार्च 2021 – शुक्रवार (षष्ठी )
  • 20 मार्च 2021 – शनिवार (सप्तमी)
  • 21 मार्च 2021 – रविवार (सप्तमी)
  • 22 मार्च 2021 – सोमवार (अष्टमी)
  • 23 मार्च 2021 – मंगलवार (नवमी)
  • 24 मार्च 2021 – बुधवार (दशमी)
  • 25 मार्च 2021 – गुरूवार (एकादशी)
  • 26 मार्च 2021 – शुक्रवार (द्वादशी)
स्वास्थ्य जांच के लिए 125 काउंटर

दांतारामगढ़ एसडीएम अशोक कुमार रणवां ने बताया कि खाटूश्याम जी मेला 2021 श्याम भक्तों के स्वास्थ्य की जांच के लिए 125 काउंटर लगाए जाएंगे, जिन पर तीन सौ का स्टाफ तैनात रहेगा।

मेले में 17 मेडिकल टीमें तैनात की जाएंगी। मेला मार्ग पर 30 लाख पानी के पाउच, 450 के करीब स्थाई और अस्थाई टॉयलेट सहित बेरिकेट्स, अग्निशमन, क्रेन, जिगजैग सहित तमाम व्यवस्थाएं प्रशासन व पुलिस की देखरेख में होगी।

कैसे करवाए रजिस्ट्रेशन व जांच?

खाटू मेले में आने वाले श्रद्धालुओं को अपने राज्य में मौजूद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, जिला अस्पताल, मेडिकल कॉलेज से निर्धारित प्रारूप में स्वास्थ्य प्रमाण पत्र और नेगेटिव आरटी पीसीआर टेस्ट (कोरोना की जांच) करवानी होगी, जो 72 घंटे से पुरानी नहीं होनी चाहिए। जांच रिपोर्ट अपने साथ लानी होगी।

रजिस्ट्रेशन के लिए क्लिक करेDARSHAN

Who Was Khatu Shyam Ji In Mahabharat? | Shree krishna wallpapers, Lord  krishna wallpapers, Lord krishna hd wallpaper